रक्षाबंधन क्यों और कैसे मनाया जाता है – Why Raksha bandanna is celebrated

Why Raksha bandanna is celebrated: हैल्लो दोस्तों जैसा की रक्षा बंधन आने बाला है, जिसका इंतज़ार भाई-बहन को बहुत वेसव्री से होता है,तो क्यों न हम इसके बारे में थोड़ा जान ले की रक्षा बंधन क्यों और कैसे मनाया जाता है.जैसा की आप सब लोग जानते है, की रक्षा बंधन भाई-बहन के अटूट  प्यार का त्यौहार है, जिसे कई सालो से मनाया जा रहा है, भाई-बहन के विश्वास को बनाये रखने के लिए ये त्यौहार श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन पूरे भारत मनाया जाता है,लेकिन इसके पीछे भी कई कहानियां प्रचलित है| की रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है दो दोस्तों आइये जानते है, की रक्षा  बंधन क्यों मनाया जाता है,इसके बारे में कुछ इतिहास के पन्नो को पलटते है. जिनके बारे में  लगभग सभी को पता होना जरूरी है. यह पोस्ट पड़ने के बाद आप रक्षाबंधन कब क्यों कैसे मनाया जाता है. इसके बारे में उचित जानकारी प् सकेंगे

रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है (Why Raksha bandanna is celebrated)

रक्षाबंधन भाई-बहन के प्यार का ऐसा त्यौहार है, जो भाई-बहन के रिश्ते को और भी गहरा करता है. यह एक ऐसा त्यौहार है जिसे भाई बहन को काफी इंतजार रहता है. इस त्यौहार के आने से पहले ही इसकी तैयारी चलने लगती है. लेकिन दोस्तों इस भाई- बहन के प्यार से जुड़े त्यौहार के इतिहास के बारे में लोगो को नहीं पता है की आखिर यह क्यों मनाया जाता है. और कैसे मनाया जाता। इसलिए आज हम इस पोस्ट में रक्षाबंधन के इतिहास के बारे में बताने जा रहे है. जिसे पड़ने के बाद आपको रक्षाबन्धन के बारे में उचित जानकारी मिलेगी।सो आगरा प भी रक्षाबंधन के बारे में जानना चाहते है. तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पड़े.

सिंधु घाटी की सभ्यता से जुड़ा है रक्षा बंधन का त्यौहार

दोस्तों ये वो कहानी है जो स्कूल में रक्षा बंधन के समय खूब ज्यादा सुनाया जाता था आपको बता दे की इतिहास में ऐसी कई कहानियां है, जो रक्षा बंधन के त्यौहार को दर्शाती है,यह कहानियाँ सिंधु घाटी की सभ्यता से जुडी हुई है, दोस्तों रक्षा बंधा सिंधु घाटी से जुड़ा हुआ है, परन्तु आपको जानकर हैरानी होगी, की रक्षा बंधन की शुरुआत सगी बहनो ने नहीं की थी परन्तु आज भी हम इस हर्षोउल्लास से मनाते है.इतिहास के पन्नों देखा जाए तो रक्षा बंधन की शुरुआत 6 हजार साल पहले हुईं थीं,रक्षा बंधन कई साक्ष्य भी इतिहास के पन्नो में दर्ज है. दोस्तों सबसे पहले राखी की शुरुआत रानी कर्णावती ने हुमाऊं को राखी भेजकर की थी तब हुमायु ने उनकी रक्षा कर उन्हें बहन का दर्जा दिया था,इतिहास के पैन यही दर्शाते है.

इसे भी जाने

जन्माष्टमी क्यों और कब मनायी जाती है

दीपावली क्यों मनाई जाती है

रानी कर्णा ने कई भेजी थी राखी

मध्यकालीन की युग में राजपूताना और मुस्लिम के बीच में संघर्ष चल रहा था.और रानी कर्णावती चित्तौड़ के राजा की विधवा थी| तो उसे,दौरान गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह से अपनी प्रजा की सुरक्षा का कोई रास्ता नहीं निकल रहा था| इसे देखते हुए रानी कर्णावती ने हुमायू को राखी भेजी थी,जिसे हुमायू ने अपनी बहन का दर्जा देते हुए रानी कर्णावती की रक्षा देने का बचन दिया था.

द्रौपती और कृष्ण से जुड़ी है राखी

इतिहास का दूसरा साक्ष्य पौरणिक काल से है,कृष्ण भगवान ने दुष्ट राजा शिशु पाल को मारा था।इसी दौरान  कृष्ण भगवान की बाएं हाथ की अंगुली में खून निकल रहा था,इसे देखकर द्रौपती बहुत दुखी हुई, और उन्होंने अपनी साड़ी का टुकड़ा फाड़ कर भगवान की हाथ की अंगुली में बांध दिया था जिससे उनका खून बंद हो गया था तभी कृष्ण ने द्रौपती को अपनी बहन के रूप में स्वीकार किया था कई वर्षो वाद जब पांडव जुए में दौपति को हर गए थे, और उसी समय भरी सभा में द्रोपती का चीरहरण हो रहा था, तभी भगवान कृष्ण ने उनकी लाज बचाई थी.

100 +रक्षाबंधन Whats app Status & शायरी 2018

50+ Happy Janmashtami Status for Whats app

रक्षा बंधन कैसे मनाये (How to celebrate Raksha Bandhan)

रक्षाबंधन भारत का राष्ट्रीय पर्व है, जो शास्त्रों के अनुसार इस साल 2018 में 26 अगस्त को मनाय जायेगा,जो की भाई- बहनो के लिए बहुत ही खास दिन होगा क्योकि इसी दिन बहन  अपने भाई के दाहिने हाथ की कलाई पर राखी बांधती है जिसके लिए वो एक उपयुक्त स्थान चुनती है,इस दिन बहन अपने भाई के लिए प्रातः काल में स्नानादि से निवृत होकर कई प्रकार के पकवान बनाती है, इसके बाद पूजा की थाली सजाती है,थाली में कुमकुम रोली,हल्दी, चावल,और मिठाई भी रखती है.जिसके बाद बहन अपने भाई के चावल का टीका लगाकर दाहिने हाथ की कलाई पर राखी बांधती है और बदले में भाई अपनी बहन को कुछ उपहार भी देतेहै ,इसके बाद भोजन ग्रहण करती है इस दिन त्यौहार पर भोजन दोपहर के बाद ही किया जाता है.

किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बांधेगा 

अगर बहन नहीं होगी तो राखी  कौन बांधेगा .

यादगार उपहार दे

दोस्तों जैसा की आप जानते है, की रक्षाबंधन पर बहन को कोई न कोई उपहार देने की परम्परा है| इसलिए उन्हें कोई ऐसा उपहार दे जिससे की बहन  वो पल यादगार जाये बैसे तो रक्षाबंधन पर उपहार कौनसा दे ये चुनना बहुत ही काठी काम है,तो इस मौके पर आप अपनी बहन को अपने बचपन की तस्वीरों  को नए पेपर पर print कराये जिससे की बहन को वो अच्छे लगे.और ये ज्यादा महँगा भी नहीं है,बैसे आप अपनी बहन की पसंद के हिसाब से कुछ भी दे सकते है,जैसे की चॉकलेट, ज्वेल्लरी,ड्रेस,घड़ी और भी कई चीज़े है, और भी कई चीज़े है,जो आप अपनी बहन की पसंद के हिसाब से उन्हें उपहार के तौर पर दे सकते है.

न मांगे वो धन और दौलत, न मांग उपहार 

चाहत उसकी इतनी की बस बना रहे ये प्यार

गम न कोई पास में आये खुशियां मिले हजार 

ऐसा ही सन्देश लती है राखी का त्यौहार.

दोस्तों मै उम्मीद करता हूँ की आप हमारे द्वारा दी गयी रक्षाबंधन की जानकारी क्यों और वैसे मनाये अच्छी तरह समझ गए होंगे और मुझे आशा है, की आपको हमारे रक्षाबंधन कैसे मनाये उपाए अच्छे लगे होंगे, हमे आप इसके बारे में Comment करके बता सकते है.

Tags: Why Raksha bandanna is celebrated, Why Raksha bandanna is celebrated 2019, Why Raksha bandanna is celebrated 2018.

Leave a Comment