हमारे देश को गुलामी से आजाद हुए बहुत वर्ष हो गए है लेकिन फिर भी लोगो के मन मे भ्रूण हत्या व लिंगभेद की भावना बनी हुई है। जैसा कि आप सभी जानते है कि शुरुआत से ही महिलाओं को अपनी शिक्षा और सुरक्षा को लेकर बहुत सारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

उत्तर प्रदेश राज्य की सरकार के द्वारा महिलाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने और उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए कई प्रयास किये जा रहे है। 

उत्तर प्रदेश में कई ऐसे क्षेत्र है जहाँ आज भी लड़कियों की दयनीय स्थिति बहुत खराब है। इसलिए उत्तर प्रदेश की सरकार, केंद्र सरकार के साथ मिलकर बेटियों के लिए कई तरह की सरकारी योजनाओं का आयोजन किया है। 

उत्तर प्रदेश राज्य के कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां आदि लोगों को ऐसा मानना है कि लड़कियां लड़कों से कम होती हैं जिसकी वजह से लड़कियों की आर्थिक स्थिति दिन-प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है 

उत्तर प्रदेश राज्य के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 8 फरवरी 2019 को बालिकाओं के समग्र विकास हेतु उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगल योजना 2022 का शुभारंभ किया गया है। 

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार की ओर से राज्य में जन्मी बेटी के जन्म से लेकर उसके विवाह (Marriage) तक आर्थिक मदद के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ लाभर्तियो को 6 आसान चरणों मे 2 लाख रुपये तक प्राप्त होगा।  

उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा बालिकाओं की दयनीय स्थिति सुधारने के लिए यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2022 एक अहम कदम है। 

उत्तर प्रदेश में लड़कियों के लिए आयोजित सरकारी योजनाओं की लिस्ट 2022 से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।